Pope Francis exchanges gifts with Palestinian leader Mahmoud Abbas during an audience at the Vatican Saturday, May 16, 2015. (Alberto Pizzoli/Pool Photo via AP)
Pope Francis exchanges gifts with Palestinian leader Mahmoud Abbas during an audience at the Vatican Saturday, May 16, 2015. (Alberto Pizzoli/Pool Photo via AP)

ईसाईयों के सबसे पवित्र स्थल ‘वेटिकन सिटी’ में फ़िलिस्तीन का दूतावास खुलने जा रहा हैं. इस बारें में फिलिस्तीन के प्रधानमन्त्री महमूद अब्बास और ईसाई धर्मगुरु प्रोप फ्रांसिस के बीच मुलाक़ात हुई हैं.

शुक्रवार को ‘वेटिकन सिटी’ में फ़िलिस्तीन दूतावास के उद्घाटन समाहरोह में फिलिस्तीन के प्रधानमन्त्री महमूद अब्बास और ईसाई धर्मगुरु प्रोप फ्रांसिस भी शामिल होंगे. महमूद अब्बास गुरुवार से इटली, वेटिकन और फ़्रांस का दौरा शुरु कर रहे हैं.

वेटिकन में  पहली बार फ़िलिस्तीन का दूतावास खुलने जा रहा हैं. वेटिकन के इस फैसले की इजराइल ने कड़ी आलोचना की हैं. फ़िलिस्तीन के विदेश मंत्री रियाज़ मालेकी ने इसे फिलिस्तीनियों के लिए एक बड़ी उपलब्धि करार दिया हैं.

मालेकी ने कहा है कि महमूद अब्बास और पोप फ़्रांसिस की बैठक में तेल अवीव से अतिग्रहित पूर्वी अलक़ुद्स में अमरीका के दूतावास के स्थानांतरण के ख़तरे की भी समीक्षा की जाएगी.

गौरतलब रहें कि दो साल पहले ही वेटिकेन ने फिलिस्तीन को संप्रभु राष्ट्र की मान्यता प्रदान की हैं. वेटिकेन और फिलिस्तीन के बीच मई 2015 में ‘वेटिकन सिटी’ में फ़िलिस्तीनी दूतावास खोले जाने को लेकर समझोता हुआ था.a


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें