उत्तरप्रदेश में योगी सरकार द्वारा मनचलों पर कारवाई के लिए गठित किये गए ‘एंटी रोमियो स्क्वैड’ की अंतराष्ट्रीय मीडिया में तीखी की आलोचना हो रही हैं. अंतराष्ट्रीय मीडिया ने इसे मोरल पुलिसिंग करार दिया.

ब्रिटिश अखबार द टेलिग्राफ के मुताबिक योगी आदित्य नाथ ने सीएम बनते ही बिगड़ैल किस्म के लोगों को काबू में करने के लिए एंटी रोमियो स्क्वैड का गठन कर दिया है, और इसे दूसरे राज्यों में भी लागू किया जा रहा है. इस दल को कई लोगों ने तालिबान जैसा मोरल पुलिसिंग करने वाला करार दिया है.

अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट लिखता हैं, योगी आदित्य नाथ ने सत्ता संभालते ही दो फैसलों से अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी है. सीएम ने सबसे अवैध कत्लखाने बंद करा दिये और मनचलों पर कार्रवाई के लिए एंटी रोमियो दल का गठन कर दिया. कई लोग इसे मोरल पुलिसिंग करार दे रहे हैं.

ब्रिटेन के दूसरे अखबार द डेली एक्सप्रेस के मुताबिक एंटी रोमियो स्क्वैड ने उन परिवारों में खलबली मचा दी है, जिनके बच्चे एंटी रोमियो स्क्वैड द्वारा पकड़े जाते हैं. इन परिवारों मानना है कि सरकार उनके बच्चों को निशाना बना रही है. अखबार ने उस रिपोर्ट का हवाला दिया जिसमे महिला पुलिस अधिकारी छेड़खानी के आरोपी शख्स को पीट रही होती है.

चर्चित अखबार द गार्जियन ने अपने कॉलम में लिखा है, ‘यूपी के शहरों की गलियों में पिछले सप्ताह पुलिस की कई टुकड़ियां उतर आईं हैं और उन लोगों को निशाना बनाती है जो छेड़खानी करते हैं. भारत के कुछ शहरों में छेड़खानी की घटनाएं आम हैं, लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि एंटी रोमियो दल सिर्फ धर्म विशेष के लोगों को निशाना बना रही है

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?