Wednesday, January 19, 2022

अमेरिका की ग़ैर क़ानूनी जेल ‘ग्वांतानामो बे’ से 15 कैदियों को भेजा गया संयुक्त अरब अमीरात

- Advertisement -

दुनिया की सबसे विवादित जेल ग्वांतानामो बे जेल से एक साथ 15 कैदियों को रिहा किया गया. पेंटागन ने बताया है कि ग्वांतानामो बे की जेल से एक साथ 15 कैदियों को निकाल कर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) भेज दिया गया है.

क्यूबा की इस अमेरिकी जेल से ओबामा के शासन काल में हुआ यह आज तक का सबसे बड़ा ट्रांसफर है. इस विवादित जेल में कैदियों की संख्या को कम करने की कोशिश में यमन के 12 और अफगानिस्तान के तीन कैदियों को संयुक्त अरब अमीरात स्थानांतरित किया गया.

इस बार रिहा किये गये कैदियों को बिना किसी आरोप के करीब 14 साल से भी लंबे वक्त से ग्वांतानामो में रखा गया था. अमेरिकी सरकार की छह एजेंसियों के प्रतिनिधियों की सदस्यता वाले पीरियॉडिक रिव्यू बोर्ड ने उनकी रिहाई की मंजूरी दी थी.

पेंटागन के अनुसार अब ग्वांतानामो में 61 कैदी बाकी बचे हैं. यह हिरासत केंद्र जनवरी 2002 में तालिबान या अल कायदा जैसे आतंकवादी संगठन से संबद्ध होने के संदेह के आधार पर विदेशी लड़ाकों को रखने के लिए खोली गयी थी. राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश के शासन काल में ग्वांतानामो से 532 कैदियों की रिहाई हुई थी, जिन्हें बड़े बड़े समूहों में अफगानिस्तान और सऊदी अरब भेजा गया था.

यूएई अमेरिका का एक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय सैन्य सहयोगी है. इराक और सीरिया में कट्टरपंथी गुट इस्लामिक स्टेट के आतंकियों पर हवाई हमले करने के लिए अमेरिकी सैनिक यूएई में ही स्थित हैं. दुबई के जेबेल अली बंदरगाह में अमेरिकी नौसेना की दुनिया में सबसे ज्यादा गतिविधियां होती हैं.

अमेरिकी सरकार की ओर से ग्वांतानामो बंदी के विशेष दूत ली वोलोस्की ने बताया कि अमेरिकी सरकार संयुक्त अरब अमीरात का आभारी है कि उसने 15 कैदियों को स्वीकार किया और इस तरह जेल को बंद करने में मदद की.

एमनेस्टी इंटरनेशनल यूएसए की राष्ट्रीय सुरक्षा और मानवाधिकार निदेशक नौरीन शाह ने कहा कि यह ट्रांसफर “इस बात के महत्वपूर्ण संकेत देता है कि राष्ट्रपति ओबामा ऑफिस छोड़ने से पहले ग्वांतानामों को बंद करवाने के लिए वाकई गंभीर हैं.”

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles