हाल ही में सीरिया के ख़ान शैख़ून क्षेत्र पर हुए रासयनिक हमलें को लेकर अमरीकी गुप्तचर सेवा सीआईए के एक पूर्व एजेंट ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि ये हमला अमेरिका और इस्राईल ने सऊदी अरब की मदद से कराया था.

दरअसल रासायनिक हमले के पीछे सीरिया की शईरात सैन्य छावनी को निशाना बनाया जाना था. जो कि बाद में रासायनिक हमले को बहाना बना कर किया गया. सीआईए के पूर्व एजेंट राॅबर्ट डेविड स्टील ने दावा किया कि सीरिया की सरकार के पास अभी भी रासायनिक हथियार हैं, पूरी तरह से निराधार और झूठ है.

उन्होंने कहा कि इस दावे और ज़मीनी सच्चाई में कोई समानता नहीं है और अमरीका ने यह हमला बात को दूसरा रंग देने के लिए किया है.

सीआईए के पूर्व एजेंट राॅबर्ट डेविड स्टील ने कहा कि जानकार सूत्रों को पता है कि इस हमले की योजना, सेनेटर जाॅन मैककेन और सीआईए के पूर्व प्रमुख जाॅन बर्नन और ट्रम्प के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हर्बर्ट मैकमिस्टर ने सऊदी अरब और इस्राईल के साथ मिल कर तैयार की थी

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?