tu

tu

तुर्की ने सीरिया में अमेरिका की और से गठित 30000 आतंकियों की सेना के खिलाफ ऑपरेशन आफरीन के तहत तुर्की-सीरिया सीमा पर 40 टैंकों और सैन्य वाहनों का दल रवाना किया है.

सोमवार को तुर्की के सनलीउर्फ़ा प्रांत के विरानसहीर ज़िले में 20 गाड़ियों पर आधारित सैन्य दल को जिसमें टैंक भी शामिल है को भेजा गया है ताकि सीरियाई सीमा पर पहले से मौजूद सैनिकों की मदद हो.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तुर्की ने ये कदम राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान के उस बयान के बाद उठाया है. जिसमे उन्होंने अमेरिका पर तुर्की सीमा के करीब आतंकियों की फ़ौज का गठन करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि हम अमेरिका की इस आतंकी फ़ौज का कुचल कर रख देंगे.

उन्होंने कहा था, 30,000 आतंकियों की इस सेना में कुर्द भी शामिल है. जिसका गठन अमेरिका तुर्की की  दक्षिणी सीमा पर कर रहा है. एर्दोगान ने कहा कि हमे इस आतंकी सेना को बनने से पहले कुचलना है.

ध्यान रहे “कुर्दस्तान श्रमिक पार्टी” (पीकेके) को तुर्की ने आतंकवादी संगठन के रूप में ब्लैकलिस्ट किया हुआ है. लेकिन अमेरिका पीकेके को हथियार उपलब्ध कराने से सहित अन्य मदद उपलब्ध कराता आया है.