Wednesday, August 4, 2021

 

 

 

शांति समझौते के बावजूद तालिबान के अल-कायदा के साथ है संबंध: संयुक्त राष्ट्र

- Advertisement -
- Advertisement -

यू.एस.-तालिबान संधि के बावजूद तालिबान के बीच अल-कायदा और संबंध, विशेष रूप से इसकी हक्कानी नेटवर्क शाखा के साथ करीबी सबंध । इस बात का दावा संयुक्त राष्ट्र ने किया है।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक रिपोर्ट में उन्होंने कहा, तालिबान ने नियमित रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ बातचीत के दौरान (अल-कायदा) के साथ परामर्श किया और गारंटी दी कि यह उनके ऐतिहासिक संबंधों का सम्मान करेगा।

फरवरी में अमेरिका के साथ तालिबान ने एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद हिं’सा बढ़ गई थी, जो अगले साल मई तक सभी विदेशी बलों की वापसी का मार्ग प्रशस्त करता है। अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि उत्तरी अफगानिस्तान में तालिबान से जुड़े एक सड़क के किनारे ब’म विस्फोट में सात नागरिकों की मौ’त हो गई।

अधिकारियों ने मंगलवार को भी आतं’कवादियों के साथ शांति वार्ता के लिए दबाव डाला। विस्फो’ट कुंडुज प्रांत में खान अबाद के अस्थिर जिले में सोमवार देर रात मजदूरों के एक समूह को ले जा रहे एक छोटे ट्रक में हुआ। किसी समूह ने जिम्मेदारी का दावा नहीं किया, लेकिन कुंदुज प्रांतीय प्रवक्ता एस्मतुल्लाह मुरादी ने तालिबान पर उंगली उठाई।

29 फरवरी को अमेरिकी-तालिबान सौदे के तहत, जो अफगानिस्तान से विदेशी सैनिकों की पूर्ण वापसी की दिशा में मार्ग प्रशस्त कर सकता है, तालिबान ने संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगियों की सुरक्षा के लिए अल-कायदा को अफगान मिट्टी का उपयोग करने से रोकने का वादा किया था।

यह सौदा भी संयुक्त राज्य अमेरिका ने अफगानिस्तान में अपने सैन्य पदचिह्न को कम करने के लिए जुलाई के मध्य तक 8,600 सैनिकों के लिए किया। जिसके तहत 2021 तक सैनिकों की संख्या अफगानिस्तान में शून्य होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles