अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा तालिबान के साथ वार्ता खत्म करने का एलान के बाद मंगलवार को तालिबान ने कसम खाई है कि वह अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों के साथ लड़ाई जारी रखेगा। तालिबान ने ये भी कहा है कि वॉशिंगटन को वार्ता छोड़ने का अफसोस होगा।

तालिबान का यह बयान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यह कहने के बाद आया है कि तालिबान के साथ लंबे समय से चल रही अफगानिस्तान शांति वार्ता का ‘‘अंत’’ हो गया है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा, ‘‘हमारे पास अफगानिस्तान में कब्जे को खत्म करने के दो तरीके थे, एक जिहाद और लड़ाई थी, दूसरा बातचीत था।’’ मुजाहिद ने कहा, ‘‘अगर ट्रंप बातचीत बंद करना चाहते हैं तो हम अपना पहला तरीका अपनाएंगे और वे शीघ्र इसपर अफसोस करेंगे।’’

trump congress

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘ उसका (तालिबान के साथ वार्ता) अंत हो चुका है। जहां तक मेरा सवाल है, वह समाप्त हो चुकी है।’’ मुजाहिद ने ट्वीट किया, ‘‘ अमेरिका ने पिछले चार दिनों में तालिबान पर जितने कठोर प्रहार किए हैं उतने पिछले 10 वर्षों में नहीं किए गए।’’

अमेरिका ने यह कदम काबुल में पिछले सप्ताह हुए हमले की जिम्मेदारी तालिबान द्वारा लेने के बाद उठाया है। इस हमले में अमेरिका का एक सैनिक भी मारा गया था। वार्ता रद्द करने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ‘‘उन्होंने (तालिबान) सोचा कि बातचीत में खुद को बेहतर स्थिति पर रखने के लिए उन्हें लोगों को मारना होगा…वह मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते।”

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन