syy11

syy11

सीरियाई सुरक्षाबलों द्वारा कथित आतंकियों के खिलाफ सीरियाई सेना की कार्रवाई में मारे जा रहे आम लोगों को लेकर राष्ट्रपति बश्शार असद की दुनिया भर में आलोचना हो रही है. ऐसे में उन्होंने पहली बार इस मामले में सफाई दी है.

ईरान के विदेश उपमंत्री जाबिर अंसारी के साथ मुलाकात में उन्होंने कहा कि वे पूर्वी ग़ोता के निवासी, आतंकवादियों से मुक्ति चाहते हैं. उन्होंने कहा कि सीरिया की सेना इन लोगों को आतंकवादियों से मुक्त कराने के उद्देश्य से अपने सैन्य अभियान को जारी रखे हुए हैं. उन्होंने बताया, ग़ोतावासियों को आतंकवादियों से सुरक्षित कराने का यह अभियान जारी रहेगा.

अमेरिका को लेकर उन्होंने कहा कि तथाकथित आतंकवाद विरोधी अमरीकी गठबंधन व्यवहारिक रूप में आतंकवादी गुट ISIS की वायुसेना में बदल चुका है. उन्होंने कहा, पश्चिम इस सैन्य कार्रवाई को यह दिखाने का प्रयास कर रहा है कि सीरिया की सेना, रासायनिक शस्त्रों का प्रयोग कर रही है.

सीरियाई राष्ट्रपति ने दावा किया कि सीरिया की सेना पर रासायनिक शस्त्रों के प्रयोग का आरोप लगाकर पश्चिम, सीरिया की सेना पर अधिक से अधिक हमले करना चाहता है. बता दें कि डूमा जिले में ताजा हवाई और मिसाइल हमलों में 31 नागरिक मारे गए. इसके अलावा एक आवासीय क्षेत्र पर हमला किया. जिसमे सात लोगों मारे गए.

ये हमले लगातार जारी है. ऐसे में मरने वालों की तादात और बढ़ सकती है. 19 फरवरी से पूर्वी घौटा में हताहतों की संख्या 756 तक पहुंच गई है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें