Friday, September 17, 2021

 

 

 

सीरिया और ईरान ने पहले ही इजराइली सीमा के पास अपनी सेना तैनात कर दी

- Advertisement -
- Advertisement -

सीरियाई सेना बल ने ईरानियन समर्थित बल के साथ इजराइल और लेबनान के पास सामरिक सीमा क्षेत्र में सेना को पहले ही तैनात कर दिया है.

विद्रोहियों ने कहा, सेना और शिया सेनाओं ने ड्रुज़ सेनाओं की सहायता की, क्षेत्र में पूर्व और दक्षिण के सुन्नी-विद्रोही स्थित बेतजैन के कुछ हिस्सों में भारी हवाई बमबारी और तोपखाने के गोलाबारी करके उनका समर्थन कर रहे है, दो महीने पहले एक बड़े हमले में क्षेत्र पर कब्ज़ा कर लिया गया था.

सीरिया की सेना ने कहा कि उन्होंने हर्मन पहाड़ी में मुगल अल मीर गांव को घेर लिया था, क्योंकि सेना तेज़ी से युद्ध करने के बेट जैन की तरफ आ रहा था. सोमवार को, सेना ने कहा कि उन्होंने विद्रोही आपूर्ति लाइनों को काट कर, उन्हें आगे बढना पड़ा.

source: Reuters

एक पश्चिमी खुफिया सूत्रों ने विद्रोही रिपोर्ट की पुष्टि की है कि ईरान समर्थित स्थानीय मिलिटिया और शक्तिशाली लेबनान हिज़बुल्लाह समूह के कमांडर  इस लड़ाई में अहम भूमिका निभा रहे है.

 सूत्रों के मुताबिक, तेहरान सीरिया के गोलान सिखर में इजरायल सीमा के पास कुटनीतिक उपस्थिति स्थापित करने में लगा है.

आतंकवादियों ने कहा कि उन्होंने अपने बचाव के लिए कई प्रयासों को खारिज कर दिया है और सरेंडर करने वाली बातों से भी इनकार किया.

लीवा अल फुरक़ान विद्रोही समूह के अधिकारी सुहैब अल रुहैल ने कहा कि  “ईरानियों द्वारा समर्थित मिलितिया दमिश्क के दक्षिण-पश्चिम से इजरायल सीमा तक सभी तरह के प्रभाव को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles