source: Al Arabiya

सीरियाई सेना बल ने ईरानियन समर्थित बल के साथ इजराइल और लेबनान के पास सामरिक सीमा क्षेत्र में सेना को पहले ही तैनात कर दिया है.

विद्रोहियों ने कहा, सेना और शिया सेनाओं ने ड्रुज़ सेनाओं की सहायता की, क्षेत्र में पूर्व और दक्षिण के सुन्नी-विद्रोही स्थित बेतजैन के कुछ हिस्सों में भारी हवाई बमबारी और तोपखाने के गोलाबारी करके उनका समर्थन कर रहे है, दो महीने पहले एक बड़े हमले में क्षेत्र पर कब्ज़ा कर लिया गया था.

सीरिया की सेना ने कहा कि उन्होंने हर्मन पहाड़ी में मुगल अल मीर गांव को घेर लिया था, क्योंकि सेना तेज़ी से युद्ध करने के बेट जैन की तरफ आ रहा था. सोमवार को, सेना ने कहा कि उन्होंने विद्रोही आपूर्ति लाइनों को काट कर, उन्हें आगे बढना पड़ा.

source: Reuters

एक पश्चिमी खुफिया सूत्रों ने विद्रोही रिपोर्ट की पुष्टि की है कि ईरान समर्थित स्थानीय मिलिटिया और शक्तिशाली लेबनान हिज़बुल्लाह समूह के कमांडर  इस लड़ाई में अहम भूमिका निभा रहे है.

 सूत्रों के मुताबिक, तेहरान सीरिया के गोलान सिखर में इजरायल सीमा के पास कुटनीतिक उपस्थिति स्थापित करने में लगा है.

आतंकवादियों ने कहा कि उन्होंने अपने बचाव के लिए कई प्रयासों को खारिज कर दिया है और सरेंडर करने वाली बातों से भी इनकार किया.

लीवा अल फुरक़ान विद्रोही समूह के अधिकारी सुहैब अल रुहैल ने कहा कि  “ईरानियों द्वारा समर्थित मिलितिया दमिश्क के दक्षिण-पश्चिम से इजरायल सीमा तक सभी तरह के प्रभाव को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं.”

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें