नई दिल्ली | पिछले छह साल से सीरिया में चल रहे गृह युद्ध से हालात बद से बदतर होते जा रहे है. सीरिया में रह रहे लोगो के लिए अब जिन्दगी नरक से बदतर हो चली है. रोजाना न जाने कितने लोग अपनी जान से हाथ धो रहे है. इसमें महिलाये और छोटे बच्चो की तादात भी काफी है. अभी सीरिया में हुए केमिकल अटैक की वजह से 100 लोगो की मौत हो गयी जिसमे बच्चो की तादात काफी है.

सीरिया में हुए केमिकल अटैक से दुनिया सिहर उठी है. वहां से लगातार विचलित करने वाली तस्वीर सामने आ रही है. एक ऐसी ही तस्वीर ने दुनिया को हिलाकर रख दिया है. इस तस्वीर में एक मजबूर बाप अपने दो बच्चो को बगल में दबाये हुए रो रहा है. इन दोनों ही बच्चों की केमिकल अटैक की वजह से मौत हो चुकी है. शायद ही दुनिया में कोई ऐसा बाप होगा जो अपने बच्चो को इस हाल में देखना चाहेगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लेकिन अब्देल हमीद अल-युसूफ ने जब अपने 9 महीने के जुड़वाँ बच्चो को मृत हालत में देखा तो उन पर क्या बीती होगी यह दर्द कोई हर नही समझ सकता. कहते है ताबूत जितना छोटा होता है वो उतना ही दर्द देता है. अब्देल उन बदकिस्मत बाप में से एक है जिनके नसीब में यह बदनसीबी लिखी होती है. बच्चो के अलावा अब्देल के परिवार के 22 लोग भी इस हमले में मारे गए.

अब्देल ने अपने बच्चो समेत सभी रिश्तेदारों को एक ही कब्र में दफन कर दिया. अब्देल , सीरिया के इडलिब प्रांत स्थित खान शेखून शहर में रहते है. मंगलवार को इसी शहर पर रासायनिक हथियारों से हमला हुआ. इस हमले ने शहर के सबसे बड़े परिवार अल-युसूफ को छोटा कर दिया. मारे गए 100 लोगो में से 22 अकेले इसी परिवार के है. बताते चले की सीरिया में पिछले 6 साल से गृह युद्ध चल रहा है. विरोधियो ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद के खिलाफ युद्ध छेडा हुआ है और यह इलाका विरोधियो के कब्जे में है.

Loading...