मिस्र की और से सीरिया को वापस अरब संघ में शामिल करने की मांग उठाई गई हैं. मिस्र की संसद में अरब मामलों के आयोग ने अरब संघ परिषद से सीरिया को उसकी जगह देने की मांग करते हुए कहा कि संघ में सीरिया की जगह खाली रखना स्वीकार्य नहीं.

मिस्र की संसद की ओर से यह मांग एेसी स्थिति में आई है कि 29 मार्च को जार्डन में अरब संघ के राष्ट्राध्यक्षों का शिखर सम्मेलन आयोजित होने वाला है. ऐसे में स्पष्ट हैं कि अब्दुल फ़त्ताह सीसी के नेतृत्व में मिस्र की सरकार ने  बश्शार असद की सरकार को अपना समर्थन दिया हैं.

मिस्र की संसद ने सीरिया की सरकारी संस्थाओं और प्रतिष्ठानों की रक्षा को लेकर जोर दिया हैं. मिस्र की संसद की और से कहा गया कि मिस्र और सीरिया के संयुक्त रणनैतिक संबंध और मिस्र द्वारा अरब संघ के नेतृत्व के काल में सीरिया और मिस्र ने जो संघर्ष किया है.

बयान में आगे कहा गया कि वह इस बात की मांग करता है कि यह देश सीरिया के मालमे में सकारात्मक हस्तक्षेप करे. क्योंकि अरब संघ की भूमिका के न होने विशेषकर सीरिया संकट में अरब देशों की भूमिकाओं वह भी इस स्थिति में कि इस देश का स्थान ख़ाली है, अब अधिक स्वीकार्य नहीं है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें