स्विट्जरलैंड ने आत्महत्या करने वाली मशीन को दी मंजूरी

जहां आत्महत्या करना लगभग सभी देशों में कानूनन अपराध है वही स्विट्जरलैंड ने एक आत्महत्या करने वाली मशीन को वैध करार दिया है मतलब की अब कोई भी इस आत्महत्या करने वाली मशीन का उपयोग करके आत्महत्या कर सकता है। इस मशीन का नाम ‘Sarco’ है।

सारको अपने उपयोगकर्ताओं को हाइपोक्सिया और हाइपोकेपनिया (Hypoxia and Hypocapnia) को प्रेरित करता है जिससे कि दर्द रहित तरीके से उपयोगकर्ता आत्महत्या कर सके। दरअसल यह मशीन अपर्याप्त ऑक्सीजन आपूर्ति की स्थिति और रक्त में कार्बन डाइऑक्साइड को कम कर देता है। जिससे कि दर्द रहित मृत्यु होती है।

हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित खबर के अनुसार, इस पूरी प्रक्रिया में 1 मिनट से भी कम का समय लगता है और व्यक्ति को अपेक्षाकृत शांति और दर्द रहित मरने की अनुमति मिलती है। आपको बता दें स्विजरलैंड में आत्महत्या कानूनी है और लगभग 1300 लोगों ने पिछले साल डिन्गिटास और एक्जिट (Dignitas and Exit) जैसे इच्छा मृत्यु संगठनों की सेवाओं का उपयोग करने की सूची दी थी।

सरको ‘सुसाइड मशीन’ का आविष्कार डॉ फिलिप निट्स्के ( Dr Philip Nitschke) ने किया था, जिसे डॉ डेथ (Dr Death) कहा जाता है। इस मशीन को को भारी आलोचना का सामना करना पड़ा है, विशेष रूप से इसकी प्रकृति के कारण जिसमें नाइट्रोजन कैप्सूल में बहती है, ऑक्सीजन को विस्थापित करती है, जिससे मृत्यु हो जाती है। जबकि कुछ ने “गैस चैंबर” के साथ तुलना की है।

विज्ञापन