म्यांमार की काउंसलर आंग सान सू की ने ब्रिटेन के विदेश मंत्री मार्क फील्ड को बांग्लादेश से रोहिंग्या मुस्लिमों की वापसी पर आश्वासन दिया है. ब्रिटिश मंत्री ने ढाका में एक प्रेस ब्रीफिंग में इस बात की जानकारी दी.

यूके के विदेश और राष्ट्रमंडल मामलों के राज्य मंत्री ने कहा कि संकट के समाधान के लिए पर्दे के पीछे बहुत से “राजनयिक प्रयास” चल रहे हैं, और यह मुद्दा अब “स्थानीयकृत” नहीं है. “हम इस स्तर पर सभी राजनयिक तरीकों का उपयोग करेंगे.

उन्होंने कहा कि “मैंने अपनी आँखों में भयानक स्थिति देखी है और हम अपने सभी दोस्तों के साथ जितना दबाव डालने की कोशिश कर सकते हैं. कर रहे है” हालांकि, उन्होंने चेतावनी दी कि अगर सु की म्यांमार में फ़ैल होती है तो सेना को पूर्णतया शक्ति प्राप्त हो जायेगी और ये स्थिति “सबसे बुरी” होगी.

ब्रिटिश मंत्री ने राजधानी न्यूपीडॉ में सू के साथ वार्ता के दौरान संकट के लिए एक ‘तत्काल समाधान’ के लिए दबाव बनाया. इस दौरान उन्होंने तीन प्रस्ताव दिए, जिनमें तत्काल हिंसा पर रोक शामिल है. राखीय राज्य तक पहुंच और तीसरा कोफी अन्नान आयोग की रिपोर्ट को लागू करना है.

उन्होंने कहा कि म्यांमार को हिंसा समाप्त करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कॉल को ध्यान में रखते हुए और सहायता कार्यकर्ताओं को राखिन में अनुमति देने की जरूरत है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?