श्रीलंका में हिंदू मंदिरों में पशुओं की बलि पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी की जा रही है। श्रीलंका की सरकार हिंदू मंदिरों में पशु-पक्षियों की बलि पर रोक लगा रही है।

श्रीलंका के मंत्रिमंडल ने बुधवार को एक ऐसे प्रस्ताव को मंजूरी दी है जिसमें बलि पर प्रतिबंध लगाये जाने के लिए कानून बनाया जाएगा। इस प्रस्ताव में बलि को दंडनीय अपराध बनाए जाने पर ज़ोर दिया गया। बता दें कि श्रीलंका में बहुसंख्यक बौद्ध कई वर्षों से इसका विरोध कर रहे हैं।

राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना की अध्यक्षता वाले मंत्रिमंडल ने पुनर्वास, उत्तरी विकास और हिंदू धार्मिक मामलों के मंत्री डी एम स्वामीनाथन द्वारा सौंपे गए प्रस्ताव को मंजूरी दी। सरकार के स्वामित्व वाले समाचार पत्र डेली न्यूज में हिंदू सांस्कृतिक मामलों के निदेशक उमा महेश्वरन ने बताया है कि इस कानून से हिंदू मंदिरों में बकरियों, पक्षियों और पशुओं की बलि पर प्रतिबंध लगेगा।

Goat Arrested For Trashing Garden Of Chhattisgarh Judge

उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल द्वारा अनुमोदित मसौदा कानून को अंतिम सहमति के लिए कानूनी ड्राफ्टसमैन विभाग के पास भेजा जाएगा। इसके बाद इसे अटार्नी जनरल के विभाग के पास भेजा जाएगा। इन प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद यह सरकार के राजपत्र में प्रकाशित होगा। उन्होंने बताया कि संसद द्वारा पारित किए जाने के बाद यह कानून प्रभावी होगा।

श्रीलंका के मामले में ऐसा प्रतीत होता है कि बलि पर रोक संबंधी क़ानून के दायरे में मुसलमान नहीं होंगे, जो देश की आबादी का तीसरा बड़ा हिस्सा हैं।