tes

tes

भारतीय मूल की मशहूर दक्षिण अफ्रीकी एड्स अनुसंधानकर्ता प्रोफैसर क्वारराइशा अब्दुल करीम को एचआईवी और किशोरों के लिए यूएनएड्स का विशेष राजदूत नियुक्त किया गया है।

प्रोफेसर अब्दुल करीम दुनिया की बेहतरीन एड्स अनुसंधानकर्ताओं में से एक हैं और उन्होंने युवाओं, खास तौर पर किशोरियों में एचआईवी संक्रमण को समझने की दिशा में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वह इस संक्रमण से प्रभावित या इस संक्रमण के साथ जी रहे लोगों के अधिकारों की पूरजोर वकालत करती हैं। यूएनएड्स के विशेष राजदूत की नई भूमिका में उनका काम मुख्य रूप से किशोरों और एचआईवी पर केंद्रित होगा।

एचआईवी/एड्स को लेकर संयुक्त राष्ट्र के साझा कार्यक्रम यूएनएड्स दुनिया में एचआईवी संक्रमित लोगों की संख्या शून्य करने, इस बीमारी से प्रभावित लोगों के खिलाफ भेदभाव रोकने और एड्स से संबंधित मौतों को शून्य करने के लिए दुनिया को प्रेरित करता और काम करता है।

पिछले महीने अब्दुल करीम और उनके पति प्रोफेसर सलीम अब्दुल करीम को अमेरिका की इंस्टीट्यूट फॉर ह्यूमन विरोलॉजी (आईएचवी) से प्रतिष्ठित लाइव टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया था।

Loading...