ट्रंप समर्थक भारतीय को बना रहे निशाना, सिख व्यक्ति के रेस्तरां में की तोड़फोड़

न्यू मैक्सिको के सांता फे सिटी में एक सिख व्यक्ति के रेस्तरां में तोड़फोड़ की गई और उसकी दीवारों पर घृणा संदेश लिख दिए गए। मंगलवार को मीडिया में आई एक खबर के अनुसार इंडियन पैलेस नाम के रेस्तरां को करीब 1,00,000 डॉलर का नुकसान पहुंचा है।

स्थानीय पुलिस और एफबीआई इस घटना की जांच कर रहे हैं। सिख अमेरिकन लीगल डिफेंस एंड एजुकेशन फंड (एसएएलडीईएफ) ने इस घटना की निंदा की है। एसएएलडीईएफ की कार्यकारी निदेशक किरन कौर गिल ने कहा, इस तरह की नफरत और हिंसा अस्वीकार्य है और सभी अमेरिकियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए।

स्थानीय अखबार के अनुसार रेस्तरां की मेजों को पलट दिया गया, कांच के बर्तन फर्श पर पटककर तोड़ दिए गए, शराब के रैक खाली कर दिए गए, एक देवी की प्रतिमा में भी तोड़फोड़ की गई और कम्प्यूटर चोरी कर लिए गए।

रेस्तरां के मालिक बलजीत सिंह ने कहा, मैं रसोई में गया, मैंने सबकुछ देखा और मुझे लगा कि यह क्या हो गया? यहां क्या चल रहा है। रेस्तरां की दीवारों, काउंटरों और अन्य उपलब्ध जगहों पर ‘व्हाइट पावर’, ‘ट्रंप 2020’, ‘घर जाओ’ लिखा गया और इससे भी खराब बातें स्प्रे पेंटिंग से लिखी गईं।

किरन कौर गिल ने बताया कि सांता फे एक शंतिपूर्ण शहर है और सिख समुदाय के लोग यहां 60 के दशक से आम लोगों के साथ मिलजुल कर रहते हैं। उन्‍होंने कहा कि हाल ही में ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ आंदोलन के फिर शुरू होने और इस क्षेत्र के स्पेनिश उपनिवेशवादियों से जुड़ी मूर्तियों को हटाने से तनाव बढ़ गया है।

विज्ञापन