कुवैत के अमीर शेख नवाफ अल-अहमद अल सबाह ने आम चुनाव के बाद शेख सबा अल-खालिद अल सबाह को प्रधान मंत्री के रूप में फिर से नियुक्त किया।

अमीर ने मंगलवार को शेख सबा को नए मंत्रिमंडल के सदस्यों को नामित करने के लिए कहा। अल सबा सत्तारूढ़ परिवार के सदस्य है। जो पिछले 250 वर्षों से सत्ता में हैं। ये परिवार सरकार और कार्यकारी पदों पर पूर्ण नियंत्रण रखता हैं।

शेख सबा ने मंत्रिमंडल ने चुनावों के बाद एक नियमित प्रक्रिया में रविवार को इस्तीफा दे दिया था। निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित परिणामों के अनुसार, विपक्ष की ओर झुकाव रखने वाले उम्मीदवारों ने 50 में से नेशनल असेंबली की 24 सीटें जीतीं।

चुनाव से पहले शेख नवाफ ने 91 साल की उम्र में अपने सौतेले भाई, शेख सबा अल-अहमद अल सबाह की मौत के बाद सितंबर में कुवैत के नए अमीर के रूप में शपथ ली। संविधान के तहत, राज्य के मामलों में अमीर सरकार की सिफारिश पर विधायिका को भंग कर सकता है।

प्रमुख रूप से पारंपरिक रूप से सरकार और संसद के बीच तनावपूर्ण संबंधों को नेविगेट करने में मदद करता है। शेख सबा 2019 के अंत में प्रधान मंत्री नियुक्त होने से पहले 2011 से विदेश मंत्रालय के प्रभारी थे।