मलेशिया में दो महिलाओं को इस्लामिक शरिया हाईकोर्ट का न्यायायधीश करने का फैसला किया गया हैं. नूर हुदा रोसलान और नेनी शुहैदा शम्सुद्दीन को सेलेनगोर के सुल्तान शरफुद्दीन इदरीस शाह ने नियुक्ति का आधिकारिक पत्र प्रदान करते हुए नियुक्ति दे दी हैं.

मलेशिया के न्यायपालिका के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ कि महिलाओं को शरिया अदालत का न्यायाधीश नियुक्त किया गया है. शरिया हाईकोर्ट ने शरिया मामलों को देखता है और इसके न्याय क्षेत्र में सिर्फ मुस्लिम समुदाय होता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नूर और नेनी ने कहा कि यह न्यायपालिका का सकारात्मक विकास है. उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि भविष्य में और महिलाओं को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी.

Loading...