Thursday, August 5, 2021

 

 

 

सल्तनत ए उस्मानिया से जुड़े मामले में अमेरिका ने किया प्रस्ताव पास, भड़का तुर्की

- Advertisement -
- Advertisement -

तुर्की ने एक सौ साल पहले “अर्मेनियाई न’रसंहा’र” की अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की आधिकारिक मान्यता को खारिज कर दिया था, यह चेतावनी देते हुए कि अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए “बेहद नाजुक समय में” संबंधों को नुकसान पहुंचाता है।

बता दें कि मंगलवार को सदन ने ओटोमन तुर्क द्वारा अर्मेनियाई लोगों की ह*त्या से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी। बयान में कहा गया है, “संकल्प स्वयं भी कानूनी रूप से बाध्यकारी नहीं है।”

बुधवार की सुबह, तुर्की ने प्रस्ताव पर अमेरिकी राजदूत को तलब किया। तुर्की के विदेश मंत्री मेव्लुट कैवुसोग्लू ने मंगलवार के मतदान की निंदा करते हुए कहा कि यह “अशक्त और शून्य” है।

आर्मेनिया के प्रधान मंत्री निकोल पशिनियन ने सदन के इस कदम की सराहना करते हुए ट्वीट किया, “यह सच और ऐतिहासिक # अन्याय की सेवा के लिए साहसिक कदम था जो आर्मेनियाई नरसंहार के लाखों वंशजों को भी आराम देता है”।

इस पूरे मामले को तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोआन ने बकवास करार दिया। उन्होने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की आलोचना की। एर्दोआन ने कहा, अमेरिकी सदन द्वारा उठाया गया कदम बेकार है, इतिहासकारों को राजनेताओं के बजाय ऐसे मामलों पर फैसला करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles