पनामा पेपर्स के चलते पाकिस्तान की राजनीति में आये भूचाल ने नवाज शरीफ की प्रधानमंत्री की कुर्सी निगल ली है. ऐसे में अब पाकिस्तान की नेशनल असेंबली ने मंगलवार को शाहिद खाकन अब्बासी चुना है.

शाहिद अब्बासी को 221 वोट मिले. विश्वास मत में जीत हासिल कर अब्बासी पाकिस्तान के 18वें प्रधानमंत्री बने हैं. अब्बासी के सामने कुल 6 उम्मीदवार थे. 342 सदस्यों वाले सदन में सत्तारूढ़ दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन (पीएमएल-एन) के अब्बासी को 221 वोट मिले.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जबकि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के नवीद कमर को 47 और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) को 33 वोट मिले. जमात-ए-इस्लामी के उम्मीदवार साहिबजादा तारिकुल्ला को मात्र चार वोट मिले. सदन में पीएमएल-एन के पास 188 सीटें हैं.

मतदान के बाद सदन को संबोधित करते हुए अब्बासी ने कहा कि ‘मैं आप सभी का शुक्रगुजार हूं, चाहे आपने मेरे पक्ष में वोट किया या विरोध में वोट किया. मैं पाकिस्तान की जनता का शुक्रगुजार हूं और मैं ‘जनता के प्रधानमंत्री’ के नवाज शरीफ का शुक्रगुजार हूं.’ उन्होंने कहा, ‘मैं, रोजाना के आरोप-प्रत्यारोप में हमें याद रखने के लिए विपक्ष और इमरान खान का भी शुक्रगुजार हूं.’

गौरतलब रहें कि सुप्रीम कोर्ट ने बीते शुक्रवार को नवाज शरीफ को पनामा पेपर मामले में दोषी ठहराते हुए उन्हें प्रधानमंत्री पद के अयोग्य करार दिया, जिसके बाद नवाज ने इस्तीफा दे दिया.

Loading...