सऊदी अरब के शासक शाह सलमान ने आतंकियों के द्वारा इस्लामिक शिक्षाओं के गलत इस्तेमाल किये जाने से रोकने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है.

उन्होंने मदीना शरीफ में एक ऐसे ऐसे धार्मिक संगठन का निर्माण करने का आदेश दिया है. जो पैगंबर मोहम्मद (सल्ल.) की शिक्षाओं के गलत इस्तेमाल को होने से रोकेगा. अल अरबिया की रिपोर्ट के अनुसार, “किंग सलमान कॉम्प्लेक्स” की स्थापना मदीना में होंगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसमें दुनियाभर के विद्वानों की नियुक्ति होंगी. जो एक परिषद की तरह काम करेगा. और इसके अध्यक्ष और सदस्यों को शाही डिक्री द्वारा नियुक्त किया गया. ये फैसला आतंकी संगठनों द्वारा मनमाने तरीके से हदीस की करने की वजह से लिया गया है.

सीनियर स्कॉलर्स काउंसिल के सदस्य शेख मोहम्मद बिन हसन अल शेख को कॉम्लेक्स की वैज्ञानिक परिषद का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

ध्यान रहे इस्लामिक क़ानून में सबसे ऊपर क़ुरान को माना जाता है. इसके बाद इस्लामिक क़ानून का दूसरा स्त्रोत सुन्नाह यानि हदीस को माना गया है.

Loading...