yash

कश्मीर के हालात पर चर्चा करने के लिए जल्द ही भारतीय जनता पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल अलगाववादी नेताओं  से मुलाक़ात करेगा. इस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा करेंगे, इस प्रतिनिधिमंडल में 6 सदस्य होंगे.

6 सदस्यीय यह प्रतिनिधिमंडल अलगाववादी नेता सैयद शाह गिलानी, मीरवाइल उमर फारुख और यासिन मलिक से मुलाकात करेगा. हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में बिगड़े हालात के बाद पहली बार भरतीय जनता पार्टी के सीनियर नेता जे नेतृत्व में कोई प्रतिनिधिमंडल अलगाववादी नेताओं से मुलाकात करेगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी अलगाववादी नेताओं से संविधान के बाहर किसी भी तरह की बातचीत को पहले ही मना कर चुकी हैं. ऐसे में यशवंत सिन्हा का अलगाववादी नेताओं से मुलाकात करना कुछ और ही बयान करता हैं.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हाल ही में कहा था कि केंद्र सरकार ऐसे लोगों से कोई बात नहीं करेगी जिनकी भारतीय संविधान में कोई आस्था नहीं और केवल उनसे संवाद करेगी जो स्वयं को भारतीय समझते हैं.

Loading...