हाल ही में अमेरिकी राष्ट्र्पति डोनाल्ड ट्रम्प की सऊदी अरब यात्रा के दौरान किये अरब नेटों के खिलाफ बोलने और ईरान को इस्लामिक ताकत बताने का खामियाजा कत्तर ने भुगतना शुरू कर दिया है. सऊदी अरब, बाहरेन, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने कतर के साथ सभी तरह के कूटनीतिक संबंध तोड़ दिए है.

इन सभी देशों ने कतर पर आतंकवाद को समर्थन देने का आरोप लगाया है. साथ ही कत्तर पर बाहरेन में आंतरिक मामलों में दखलंदाजी करने का भी आरोप है. बहरिन ने कतर में रह रहे अपने सभी नागरिकों को वहां से लौट आने के लिए 14 दिन का समय दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ सऊदी अरब ने कहा कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर ऐसा कर रहा है. सऊदी ने सभी मित्र राष्ट्रों और कंपनियों से भी अपील की है कि वे भी कतर के साथ सभी तरह के संपर्क तोड़ दें. मिस्र और UAE ने भी कतर के साथ सभी तरह के संबंध तोड़ने की घोषणा की है.

इन चारों देशों ने कतर के साथ न केवल अपने कूटनीतिक और राजनयिक संबंध तोड़ लिए हैं, बल्कि हवाई व समुद्री संपर्क तोड़ने का भी ऐलान किया है.

Loading...