सैनिकों के बंधक बनाने के हौथी के दावों का सऊदी अरब ने किया खंडन

यमन के हौथी विद्रोही आंदोलन से जूझ रहे सऊदी-यूएई के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन ने सऊदी बलों सहित “हजारों दुश्मन सैनिकों” को विद्रोहियों द्वारा बंधक बनाने के किए गए “दावे” को खारिज कर दिया है।

दरअसल, हौथी के एक प्रवक्ता ने शनिवार को एक टेलीविज़न बयान में कहा कि नजारान के दक्षिणी सऊदी क्षेत्र के पास अगस्त के अंत में ऑपरेशन से पता चला कि समूह के लड़ाके राज्य के क्षेत्र में घुसने में सक्षम थे।”

लेकिन गठबंधन के प्रवक्ता कर्नल तुर्क अल-मल्की ने सोमवार को कैदियों के बारे में हौथी के दावे को खारिज कर दिया, उन्हें “भ्रामक मीडिया अभियान” का हिस्सा बताया।पत्रकारों से बात करते हुए, उन्होंने कहा कि गठबंधन ने अगस्त के अंत में सऊदी अरब की सीमा के साथ सादा प्रांत के किताफ़ जिले में हौथी हमले को विफल कर दिया।

यमन के उत्तरी हिस्से को नियंत्रित करने वाले हौथियों ने हाल ही में सऊदी अरब की दक्षिणी सीमा के पार अपने ड्रोन और मिसाइल हमलों को आगे बढ़ाया है।

बता दें कि सऊदी ऑइल कंपनी अरामको पर बड़े हम’ले के बाद अब हूती विद्रोहियों हजारों सऊदी सैनिकों के आत्मसमर्पण करने का बड़ा दावा किया है। इतना ही नहीं 500 सैनिकों को मारे जाने की भी बात कही।

हूती विद्रोहियों के एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि सऊदी अरब के नाजरान शहर के क़रीब सऊदी अरब की तीन ब्रिगेड ने आत्मसमर्पण कर दिया। प्रवक्ता ने बताया कि पकड़े गए सैनिकों की संख्या हज़ारों हैं। उन्होंने दावा किया कि हूती विद्रोहियों के तीन दिन के अभियान में सऊदी अरब गठबंधन सेना के कई अन्य सैनिक मारे गए हैं।

विज्ञापन