सऊदी अरब ने कनाडाई राजदूत को देश छोड़ने का आदेश दिया है। साथ ही अपने राजदूत को भी कनाडा से वापस बुला लिया है। इतना ही नहीं उसने कनाडा के साथ व्यापारिक और निवेश संबंध पर भी रोक लगा दी है।

सऊदी ने यह कदम कनाडा की उस अपील के बाद उठाया है जिसमें रियाद में गिरफ्तार किए गए नागरिक अधिकार कार्यकर्ता की रिहाई की मांग की गई थी। जिसे सऊदी अरब ने उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करार दिया है।

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने कनाडा को इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि कनाडा हमारे आतंरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है, जिसका उसे कोई अधिकार नहीं है। इसकी वजह से दोनों देशों के बीच रिश्ते खराब हो रहे हैं। विदेश मंत्रालय ने अगले ट्वीट में कहा, ‘हम घोषणा करते हैं कि हम कनाडा में सऊदी के राजदूत को परामर्श के लिए बुला रहे हैं। इसके साथ ही कनाडा के राजदूत को अगले 24 घंटे में देश छोड़ने का आदेश देते हैं।’

बता दें कि बीते हफ्ते कनाडा ने कहा था कि वह सऊदी में महिलाओं और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की एक नई लहर पर बेहद चिंतित है। गिरफ्तार किए गए कार्यकर्ताओं में पुरस्कार पा चुकीं जेंडर राइट ऐक्टिविस्ट समर बादवी भी शामिल हैं। बादवी को उनकी सहयोगी प्रचार नसीमा अल-सदाह के साथ बीते हफ्ते गिरफ्तार किया गया था।

बादावी महिलाओं के मताधिकार के लिए प्रचार करने और खाड़ी साम्राज्य में पुरुष अभिभावक प्रणाली को चुनौती देने के लिए अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा 2012 अंतर्राष्ट्रीय महिला साहस पुरस्कार प्राप्तकर्ता हैं।