su1

su1

सऊदी अरब और ईरान के तल्ख़ रिश्तों के बीच सऊदी क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने गुरुवार को न्यू यॉर्क टाइम्स के साथ साक्षात्कार में ईरान के सर्वोच्च नेता को मध्य पूर्व का नया हिटलर करार दिया.

सऊदी रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि अयातुल्ला अली खामेनी की वजह से उनके देश को कथित विस्तार का मुकाबला करना पड़ सकता है. ध्यान रहे शिया मुल्क ईरान और कथित सुन्नी मुल्क सऊदी अरब के आपसी तनाव के चलते पूरा मध्य-पूर्व खुनी जंगों में लिप्त है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बिन सलमान ने आगे कहा कि हमने यूरोप से सीखा है कि तुष्टिकरण के तहत काम नहीं होता. उन्होंने कहा, हम यूरोप में जो हुआ उसे ईरान में नए हिटलर के रूप में मध्य पूर्व में नहीं दोहराना चाहते हैं.

ध्यान रहे लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी द्वारा सऊदी अरब के दौरे के दौरान इस्तीफा देने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया. साथ ही 4 नवंबर को रियाद के मुख्य हवाई अड्डे को निशाना बनाते हुए हूथी विद्रोहियों के बैलिस्टिक मिसाइल हमले ने सऊदी अरब की चिंता पहले ही बढ़ा रखी है.

ध्यान रहे यमन में हूथी विद्रोहियों को और लेबनान में हिजबुल्लाह को ईरान का समर्थन प्राप्त है. ये दोनों सऊदी अरब की आंखों में चुभ रहे है.