कतर अखबार अल-राय के मुताबिक सऊदी अरब की हुकूमत ने क़तर के नागरिकों के उमराह करने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

गुरुवार को अपने संपादकीय में, अल-राय अख़बार ने लिखा कि सऊदी अरब मक्का में आने वाले कतरी तीर्थयात्रियों के खिलाफ मनमानी कदम उठा रहा है. अल-राय के मुताबिक, सऊदी अधिकारियों ने पिछले हफ्ते जेद्दा हवाई अड्डे से 20 कतरी नागरिकों के एक समूह को कुवैत डिपोर्ट किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अखबार के अनुसार, ये सभी उमराह के लिए सऊदी अरब पहुंचे थे. 25 दिसंबर को एक ट्वीट में मोहम्मद बेन हामिद अल मोहनदी ने कहा, “मैं उमराह करना चाहता था लेकिन सऊदी अधिकारियों ने मुझे रोक दिया.

अखबार ने कहा कि कथित व्यवहार “धार्मिक या नैतिक रूप से स्वीकार्य नहीं और इसे बर्दाश्त भी नहीं किया जाना चाहिए”, सऊदी अरब का धार्मिक संस्कारों का राजनीतिकरण जारी है.

ध्यान रहे सऊदी अरब और उसके सहयोगी देशों ने जून 2017 के शुरू में क़तर पर आतंक का वित्तपोषण करने का आरोप लगाते हुए अपने सभी रिश्तें तोड़ लिए थे. हालाँकि क़तर ने इन आरोपों को खारिज किया है.

सऊदी अरब, बहरीन, संयुक्त अरब अमीरात और मिस्र ने दोहा के साथ राजनयिक संबंधों को खत्म करते हुए उसके साथ अपनी भूमि, समुद्र और वायु सीमा सील कर दी.

Loading...