भारत में सऊदी अरब के राजदूत डॉ सऊद बिन मुहम्मद अलसाती ने कहा कि सऊदी अरब हाजियों की आमद के लिए पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने कहा कि विशेषकर भारतीय हाजियों का स्वागत करने के लिए पूरी तैयार की जा चुकी हैं.

अलसाती ने हज को लेकर कहा कि हज जैसे पवित्र फरीज़े को किसी भी तरह के राजनीतिक इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब हज के दौरान पेश आने वाले सभी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार है.

उन्होंने कहा कि हज एक पवित्र फरीज़ा है और दुनिया भर से लाखों लोग इस इस फ़रीज़े को अदा करने के लिए मक्का और मदीना आते हैं. सऊदी सरकार हमेशा इस बात की पूरी कोशिश करती है कि हजयात्री पूरी दिल्लगी के साथ पवित्र फ़रीज़े को अंजाम दें और उन्हें किसी तरह की परेशानी न हो.

उन्होंने कहा कि चूंकि हज एक धार्मिक फ़रीज़ा है, इसलिए हज के दौरान किसी भी तरह की राजनीतिक गतिविधियों की अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने बताया कि इस बार परिवहन प्रणाली को भी काफी बेहतर बनाया गया है और अब केवल दो घंटे में रेल द्वारा मक्का से मदीना का सफर तय किया जा सकता है

दो हजार रुपये की नई भारतीय मुद्रा सऊदी अरब न ले जाने के संबंध में गलतफहमी को दूर करते हुए डॉक्टर अल साती ने कहा कि भारतीय मुद्रा सऊदी अरब ले जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं है लेकिन चूँकि वहाँ रियाल का चलन है इसलिए रियाल ले जाने में लोगों को आसानी होगी. (सिआसत इनपुट के साथ)

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?