सऊदी सरकार ने मंगलवार को घोषणा की कि वह इस क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता हासिल करना चाहती है, इसके लिए यमन, सीरिया और लीबिया में राजनीतिक समाधान का समर्थन कर रही है।

एक मंत्रिस्तरीय परिषद की बैठक में, किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज ने इस बात पर जोर दिया कि “अंतर्राष्ट्रीय संकल्प और अरब शांति पहल के आधार पर ही फिलिस्तीनी मुद्दे के लिए एक उचित और व्यापक समाधान तक पहुंचने का महत्व है।”

शाह सलमान ने इस महत्व को भी दोहराया कि “क्षेत्र में शांति प्राप्त करने के लिए [इजरायल और फिलिस्तीनियों के बीच बातचीत शुरू] हो।”

उन्होने हौथी द्वारा हमलों, बैलिस्टिक मिसाइलों, आतंकवादी अभियानों, और विस्फोटक ड्रोन और नौकाओं को भेजने के लिए होदेदा गवर्नर का उपयोग करने के लिए स्टॉकहोम समझौते के उल्लंघनों की भी निंदा की।

किंग सलमान ने कहा कि हौथी के कार्य “क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एक वास्तविक खतरा हैं।” उन्होंने यह भी संकेत दिया कि ये कार्य “राजनीतिक प्रयासों को कमजोर करते हैं।”

मंत्री परिषद की बैठक के दौरान उन्होने कुवैती अमीर शेख नवाफ अल-अहमद अल-सबाह से प्राप्त फोन कॉल के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने बताया, कुवैत अमीर के साथ उन्होने खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) देशों की 41 वीं बैठक की सिफारिशों के साथ-साथ अमेरिका के साथ सुरक्षा सहयोग, जीसीसी देशों के बीच वाणिज्यिक संबंध, सांस्कृतिक विविधता, धर्मों के संवाद सहित कई मुद्दों पर चर्चा की। और यौन उत्पीड़न का मुकाबला करना।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano