सउदी अरब ने मंगलवार को पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) के अपमानजनक कार्टूनों के प्रसारण को लेकर फ्रांसीसी गणतंत्र की निंदा की, साथ ही इस्लाम और आतंकवाद के बीच किसी भी सबंध को अस्वीकार कर दिया।

आधिकारिक एसपीए समाचार एजेंसी ने एक विदेश मंत्रालय के स्रोत का हवाला देते हुए कहा कि किंग्डम आतंकवाद के किसी भी कार्य की निंदा करता है। “सऊदी अरब का कहना है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सम्मान, सहिष्णुता और शांति के लिए एक प्रकाशस्तम्भ होनी चाहिए।”

हालाँकि, इस्लाम विरोधी अपमान पर फ्रांसीसी उत्पादों के बहिष्कार के आह्वान के संबंध में सऊदी अधिकारियों की कोई टिप्पणी नहीं थी।

बता दें कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने मुस्लिमों पर “अलगाववाद” का आरोप लगाते हुए और पूरी दुनिया में इस्लाम को “संकट में धर्म” के रूप में वर्णित करते हुए मुस्लिम दुनिया को भड़का दिया है।

कुवैत, कतर, तुर्की, पाकिस्तान, बांग्लादेश आदि मुस्लिम देशों में फ्रांसीसी उत्पादों का बड़े पैमाने पर बहिष्कार शुरू हो गया है। साथ ही इन देशों में फ्रांसीसी राजदूतों को वापस भेजने की मांग उठ रही है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano