bar

bar

आले सऊद परिवार में सत्ता को लेकर चल रहे घमासान के बीच सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान के ग़ुस्से का शिकार अब मज़दूर वर्ग हुआ है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब के शाहज़ादों के बाद अब इस देश के मज़दूरों के ख़िलाफ़ आले सऊद शासन ने क्रैक डाउन शुरू कर दिया है। इस देश की पुलिस ने अवैध रूप से सऊदी अरब में रहने वाले विदेशी मज़दूरों और कारगरों के ख़िलाफ़ क्रैक डाउन चला रखा है।

सऊदी पुलिस ने विशेष अभियान चलाकर तीन दिवसीय कार्यवाही में 24,000 विदेशियों को गिरफ़्तार कर लिया है।

सऊदी प्रेस एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार आप्रवासियों की गिरफ़्तारी को लेकर आले सऊद शासन ने एक बयान जारी करके कहा है कि यह कार्यवाही उन विदेशी नागरिकों के ख़िलाफ़ की गई है जो निरंतर श्रम कानूनों का उल्लंघन करते रहे हैं।

सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक़ अबतक तीन दिनों में 24 हज़ार विदेशियों को गिरफ़्तार किया गया है।

सऊदी सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक़, 15 हज़ार 702 लोगों को उनका वर्क प्रमिट समाप्त हो जाने के कारण गरिफ़्तार किया गया, 3 हज़ार 883 लोगों को अवैध रूप से सऊदी अरब में प्रवेश करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है, श्रम क़ानून का उल्लंघन करने के कारण 4 हज़ार 353 आप्रवासियों को गिरफ़्तार किया गया है।

आंकड़ों के अनुसार सबसे अधिक 42 प्रतिशत गिरफ़्तारियां पवित्र नगर मक्का से की गई है, गिरफ़्तार किए गए लोग 25 विभिन्न देशों से संबंधित हैं।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?