Monday, July 26, 2021

 

 

 

सऊदी अरब में कोड़े मारने की सजा हुई खत्म, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई पूरी तरह रोक

- Advertisement -
- Advertisement -

सऊदी अरब के उच्चतम न्यायालय ने देश में कोड़े मारने की सजा खत्म करने की घोषणा की है। कोर्ट ने अपने निर्देश में कहा है कि इसके बदले या तो जेल की सज़ा दी जाएगी या फिर उसे जुर्माना भरना होगा।

सऊदी अरब के उच्चतम न्यायालय का कहना है कि ताजा सुधार का लक्ष्य ”देश को शारीरिक दंड” के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारों के मानदंडों के और करीब लाना है। फिलहाल विवाहेत्तर यौन संबंध, शांति भंग करना और हत्या तक के मामलों में अदालतें आसानी से दोषी को कोड़े मारने की सजा सुना सकती थीं। न्यायालय ने एक बयान में कहा है कि भविष्य में न्यायाधीशों को जुर्माना, जेल या फिर सामुदायिक सेवा जैसी सजाएं चुननी होंगे।

बीते कुछ सालों में आख़िरी बार सऊदी अरब में कोड़े मारने की सज़ा तब सुर्खियों में आई थी जब साल 2015 में ब्लॉगर रैफ़ बादावी को सार्वजनिक तौर पर कोड़े मारे गए थे। उन पर साइबर क्राइम का आरोप था और साथ ही इस्लाम का अपमान करने का भी। बदावी को जून 2012 में गिरफ़्तार किया गया था। उन्हें 10 साल क़ैद और 1000 कोड़े मारे जाने की सज़ा दी गई थी।

बदावी पर अपनी वेबसाइट ”सऊदी लिबरल नेटवर्क” पर इस्लाम का अपमान करने, साइबर अपराध और अपने पिता की अवहेलना करने के आरोप थे। यह वेब साइट अब बंद कर दी गई है। इस सज़ा की अमरीका और मानवाधिकार संस्थाओं ने निंदा की थी।

बता दें कि प्रिंस मोहम्मद क्राउंस प्रिंस के बागडोर संभालने के बाद सऊदी अरब में मानवाधिकारों का रिकॉर्ड खराब हुआ है। ऐसे में कोड़े मारने सी सजा को खत्म करने का कदम बेहद महत्वपूर्ण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles