इस्लामाबाद। सऊदी अरब और ईरान के बीच तनाव को लेकर पाकिस्तान ने चिंता जताई है और तेहरान स्थित सऊदी दूतावास पर हुए हमले की निंदा की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, शिया धर्मगुरु को मृत्युदंड दिए जाने के विरोध में ईरान स्थित सऊदी दूतावास और वाणिज्य दूतावास पर हमलों के बाद सऊदी अरब ने ईरान के साथ राजनयिक संबंध समाप्त करने की घोषणा की और उसके बाद पाकिस्तान का यह बयान सामने आया है।

सऊदी और ईरान के बीच तनाव से चिंतित हुआ पाक

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हम इस चुनौतीपूर्ण समय में मुस्लिम समुदाय के बीच एकता के लिए शांतिपूर्ण तरीकों से मतभेद दूर करने का आग्रह करते हैं। विदेश मंत्रालय के एक बयान में सऊदी दूतावास पर हमले को अंतर्राष्ट्रीय नियमों के विरुद्ध, दुर्भाग्यपूर्ण और अत्यंत खेदजनक बताया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बयान में कहा गया है कि यह राज्यों की जिम्मेदारी है कि वे सभी राजनयिक लक्ष्यों और उनके कर्मियों को सुरक्षा प्रदान करें। मंत्रालय ने कहा कि चरमपंथी और आतंकवादी ताकतें मुस्लिम देशों के बीच किसी भी प्रकार के मतभेद का लाभ उठा सकती हैं।

पाकिस्तानी संसद में भी इस मुद्दे पर चर्चा हुई और योजना और विकास मंत्री अहसान इकबाल ने सदन को बताया कि पाकिस्तान मध्य पूर्व की घटनाओं के प्रति पूरी तरह सचेत है। उन्होंने सदस्यों को आश्वास्त किया कि पाकिस्तान ईरान और सऊदी अरब के बीच तनाव दूर करने में सकारात्मक भूमिका निभाएगा। साभार: ibnlive

Loading...