अमेरिकी मीडिया ने एक खबर बड़ी प्रमुखता से प्रकाशित किया है जिस पर काफी चर्चा हो रही है। इस खबर में आले सऊद का इक़बालिया बयान है कि जिसमें उन्होंने स्वीकार किया कि आइएस को हमने बनाया है।

रोइटर्ज़ ने इस संबंध में लिखा कि इंटरनेट में मामूली सर्च के माध्यम से आप कुछ ऐसी हेडलाईनज़ मिल जाएंगी जिन्हें देखकर आप चौंक पड़ेंगे। इन हेडलाईनों में लिखा है कि ‘अल सऊद ने स्वीकार कर लिया कि आईएस का गठन हमने ही किया है … और सीआईए को भी खबर है।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अमेरिकी राजनीतिज्ञ रोनाल्ड अर्नेस्ट पॉल ने लिखा कि सऊदी अरब के इकबालिया बयान की रिपोर्ट पहले फ़ाइनेनशियल टाइम्स ने प्रकाशित की थी। यह खबर उसी हेडिंग के साथ कई अन्य दैनिक समाचार पत्रों ने भी प्रकाशित हुई है।

रोनाल्ड पॉल के मुताबिक, सऊदी अरब ने आईएस आतंकवादी संगठन का गठन अमरीका खुफिया एजेंसी सीआईए की मदद से बनाया वरना सऊदी अरब अकेले ऐसा नहीं कर सकता था। सीआईए और पेंटागन शुरुआत से ही बशर असद को हटाने का राग अलाप रहे हैं और इसके लिए उन्हें आईएस की जरूरत थी इसलिए उन्होंने सऊदी अरब के साथ मिलकर ऐसा खेल खेला।

डेनियल मैक एडम्स ने कहा कि यह सही है इस पूरी कहानी के पीछे सऊदी अरब का हाथ है, लेकिन यह भी एक तथ्य है कि अमेरिका ने ही आईएस और अलकायदा जैसे आतंकवादी संगठनों को वैश्विक स्तर पर शोहरत दी है।

साभार: hindkhabar.in

Loading...