अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कश्मीर में जन्मी समीरा फाजली को अपनी टीम में जगह दी है। बाइडन की इकोनॉमिक टीम (Economic Team) में उन्हे शामिल किया गया है। समीरा अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बाइडेन की राष्ट्रीय आर्थिक परिषद की उप निदेशक होंगी।

समीरा पहले पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barack Obama) के साथ भी काम कर चुकी हैं। उन्हें ओबामा की बेहद नजदीकियों में शुमार किया जाता था। इससे पहले फाजिली अटलांटा के फेडरल रिजर्व बैंक में निदेशक पद रह चुकी हैं। यहां पर उन्होंने सामुदायिक और आर्थिक विकास के लिए काम किया।

इसके अलावा कश्मीर की रहने वाली समीरा घरेलू वित्त और अंतर्राष्ट्रीय मामलों के ट्रेजरी विभाग में भी सेवा दे चुकी हैं। समीरा फाजली अपने पति और तीन बच्चों के साथ जॉर्जिया में रहती हैं। फाजिली के माता-पिता बेहतर अवसर के लिए कश्मीर से न्यूयॉर्क चले गए थे। समीरा ने येल लॉ स्कूल और हार्वर्ड कॉलेज से पढ़ाई की है।

समीरा ने अपने करियर की शुरुआत येल लॉ स्कूल में एक व्याखाता के रूप में की थी। नई नियुक्ति के बाद समीरा संयुक्त राज्य में विनिर्माण, नवाचार और डोमेस्टिक कॉम्पिटिशन का ध्यान रखेंगी। इनसे पहले एक और कश्मीर मूल की महिला आयशा शाह को व्हाइट हाउस की डिजिटल स्ट्रेटेजी टीम में मुख्य पदाधिकारियों में से एक के रूप में चुना गया है।

समीरा फाजली के पिता डाॅ. युसूफ फाजली कश्मीर के सुप्रसिद्ध स्वास्थ्य विशेषज्ञ डाॅ. अली जान के चचेरे भाई हैं। डाॅ. अली जान के नाम पर श्रीनगर शहर में एक सड़क का नाम भी रखा गया है। माैलाना आजाद मार्ग श्रीनगर में उनके नाम पर एक शापिंग काम्पलेक्स का नाम भी रखा गया है।

अगले सप्ताह ही अमेरिका की कमान संभालने वाले जो बाइडन के अपने प्रशासन में कश्मीरी मूल की दो महिलाओं को जगह देने से जम्मू-कश्मीर में उत्साह बढ़ा है। उनका कहना है कि यह पूरे जम्मू-कश्मीर की महिलाओं के लिए सम्मान की बात है कि यहां की महिलाओं को जो बाइडन प्रशासन में अहम जिम्मेदारियां दी गई हैं।