रूस के विदेश मंत्री ने जोर देकर कहा कि मास्को इजरायल और ईरान के बीच टकराव के लिए सीरिया को अखाड़े के रूप में इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देगा।

सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए, सर्गेई लावरोव ने इज़राइल को आश्वासन दिया कि रूस सीरिया से कब्जे वाले राज्य की ओर खतरों और हमलों को निर्देशित करने की अनुमति नहीं देगा।

लावरोव ने कहा, “हमारे प्यारे इजरायली साथियों, अगर आपके पास तथ्य हैं कि आपका राज्य सीरिया के क्षेत्र से खतरों का सामना कर रहा है, तो तत्काल तथ्यों की रिपोर्ट करें और हम खतरे को बेअसर करने के लिए हर उपाय करेंगे।’

लावरोव का ये आश्वासन सीरिया के भीतर ईरानी सैन्य स्थलों पर इजरायलियों द्वारा बड़े हवाई हमलों के बीच सामने आया है। युद्धग्रस्त देश में ईरान की मौजूदगी को रोकने के प्रयासों में पिछले कुछ वर्षों में इज़राइल नियमित रूप से हमले कर रहा है।

रूसी विदेश मंत्री ने कहा कि उनका देश सीरिया से बाहर अमेरिकी सेना का “पीछा” नहीं करेगा, और न ही इसकी उपस्थिति के विरोध में शत्रुता में संलग्न होगा। अमेरिकी सैनिक बड़े पैमाने पर दक्षिण-पूर्व और पूर्वी सीरिया में स्थित हैं जहां वे डीयर एज़-ज़ोर प्रांत में तेल क्षेत्रों की रक्षा करते हैं।

लावरोव ने दोहराया कि रूस अमेरिकी सेना पर हमला नहीं करेगा, लेकिन वह सीरिया के संबंध में राजनीतिक या कूटनीतिक स्तर पर वाशिंगटन के साथ किसी भी वार्ता में शामिल नहीं होगा।

उन्होने कहा, “हमारे संयुक्त राज्य अमेरिका के सैन्य चैनलों के माध्यम से संपर्क हैं,” उन्होंने समझाया, “इसलिए नहीं कि हम सीरिया में उनकी उपस्थिति की वैधता को स्वीकार करते हैं, लेकिन सिर्फ इसलिए कि उन्हें विशिष्ट नियमों के ढांचे के भीतर कार्य करना चाहिए।”

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano