russ

russ

मास्को: सीरिया के पूर्वी घौटा में सैन्य अभियान को रूस ने अनिवार्य और आवश्यक करार दिया है. रूस का कहना है कि नागरिकों को बीच हमलों में नहीं छोड़ा जा सकता.

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़हरोवा ने शुक्रवार को कहा कि नागरिकों को रूस द्वारा बनाए गए मानवीय गलियारे के माध्यम से इस क्षेत्र निकाला जा सकता है. जिसके लिए आवश्यक है कि ये सैन्य अभियान पूर्ण रूप से खत्म हो.

ध्यान रहे पूर्वी घौटा में  रूस द्वारा बुलाया गया चार से पांच घंटे का मानवतावादी संघर्ष विराम आज सुबह 9 बजे से शुरू हुआ. हालांकि क्षेत्र में निरंतर गोलाबारी के कारण तीन पूर्व विराम विफल रह चुके है.

सोमवार को ही रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक घेरे वाले इलाके में हवाई हमलों के लिए एक दैनिक विराम का आदेश दिया था.

रूसी रक्षा मंत्री सेर्गेई शूगू ने कहा कि इस विराम के दौरान नागरिकों को इस क्षेत्र से बाहर निकलने के लिए एक मानवीय गलियारे खुले होंगे.

शनिवार को, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया था, जिसमे पूर्वी घौटा में लगातार 30 दिनों के मानवतावादी युद्धविराम की बात कही गई थी.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें