मास्को | उत्तर कोरिया के तानाशाह और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच जारी जुबानी जंग पर रूस ने तंज कसा है. रूस ने इस लड़ाई की तुलना बच्चो की लड़ाई से करते हुए कहा की दोनों नेता स्कूली बच्चो की तरह लड़ रहे है. हालाँकि रूस ने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण की निंदा की है लेकिन उन्होंने अमेरिका को एक तरह से धमकाते हुए यह भी चेतावनी दी की कोरियाई प्रायद्वीप में युद्ध शुरू करना उसे स्वीकार नही है.

शुक्रवार को उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने डोनाल्ड ट्रम्प को पागल करार देते हुए कहा था की डोनाल्ड ट्रम्प के बयान से उसे यह साफ़ हो गया है की मैं सही राह पर हूँ और इसी राह पर आगे भी चलना है. किम जोंग ने डोनाल्ड ट्रम्प की उस धमकी पर भी पलटवार किया जिसमे ट्रम्प ने उत्तर कोरिया को पूरी तरह तबाह करने की धमकी दी थी. किम ने कहा की ट्रम्प को इस धमकी की भारी कीमत चुकानी होगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दो देशो के समकक्षों के बीच चल रही इस जुबानी जंग में रूस भी कूद गया. रूस ने दोनों ही नेताओं को भाषा पर संयम बरतने की सलाह देते हुए कहा की दोनों देश उत्पन तनाव को कम करे. रूस के विदेश मंत्री सेर्गेई लावरोव ने इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा की दोनों ही नेता स्कूली बच्चो की तरह लड़ रहे है. दोनों ही नेताओं को संयम बरतना चाहिए. सेर्गेई लावरोव ने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण पर भी टिप्पणी की.

उन्होंने कहा की उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण को चुपचाप देखते रहना भी स्वीकार नही है. लेकिन लावरोव इन शब्दों के साथ यह भी जोड़ा की इसका हल युद्ध भी नही है. हमें कोरियाई प्रायद्वीप में युद्ध शुरू करना भी स्वीकार नही है. रूस की इस प्रतिक्रिया को अमेरिका के लिए धमकी भी माना जा रहा है. इससे स्पष्ट है की रूस अमेरिका से कहना चाहता है की वो उत्तर कोरिया के खिलाफ युद्ध शुरू करने की गलती न करे.

Loading...