vet

vet

संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में अमेरिका को उस समय बड़ा झटका लगा जब रूस ने सीरिया पर पेश किये गए उसके प्रस्ताव को वीटो कर दिया.

दरअसल अमेरिका ने सुरक्षा परिषद में सीरिया में राष्ट्र संघ के जांच अभियान की अवधि बढ़ाने का प्रस्ताव पेश किया था. लेकिन संयुक्त राष्ट्र संघ में रूस के प्रतिनिधि ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद में नकारात्मक मतदान करके उसे वीटो कर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वेसिली नेबेंज़िया ने कहा कि यह प्रस्ताव पेश करने में अमरीका का लक्ष्य, सीरिया में रूस की भूमिका में रुकावट डालना है. इसलिए उन्होंने इस प्रस्ताव को वीटो किया.

ध्यान रहे सीरियाई सेना पर लगे रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ और रासायनिक हथियारों पर प्रतिबंध के संगठन ने वर्ष 2015 में सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव पर संयुक्त रूप से सीरिया में रासायनिक हमलों की जांच की थी.

ख़ान शैख़ून में हुए इस संदिग्ध रासायनिक हमले की जांच की 2016 में एक साल की अवधि बड़ा दी गई थी. हालांकि इस जांच दल का अभियान नवम्बर 2017 में समाप्त होने वाला है.

Loading...