रूसी राष्ट्रपति के प्रतिनिधि ने यमन युद्ध और इस देश की आर्थिक और समुद्री घेराबंदी को समाप्त करने की मांग की ताकि इस देश की जनता की स्थिति बेहतर हो सके।

मध्य पूर्व में रूसी राष्ट्रपति के प्रतिनिधि «मिखाइल बोगदायिफ़» ने संयुक्त राष्ट्र के यमन में प्रतिनिधि «इस्माइल वल्द शेख़»  से मुलाक़ात में यमन युद्ध और आर्थिक और समुद्री घेराबंदी को समाप्त करने की मांग की ताकि इस देश की जनता की स्थिति बेहतर हो सके। मास्को में होने वाली इस बैठक में दोनों ओर ने यमन युद्ध के जारी रहने के बारे में चिंता व्यक्त की।

पिछले सप्ताह मंगलवार को रूसी विदेश मंत्रालय ने घोषणा की थी कि बोगदायिफ़ और शेख अहमद ने इस युद्ध के दोनों मोर्चों को यमन में विवाद को खत्म करने और युद्ध रोकने की ताकीद की है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मुलाक़ात में यमन के राजनीतिक लाभ और मांगों को ध्यान में रखते हुए फिर से वार्ता करने पर जोर दिया गया। और यमन में विनाशकारी आर्थिक और सामाजिक स्थिति को समाप्त करने के लिए आवश्यक कदम और अंतरराष्ट्रीय समुदाय की सहायता करने पर बल दिया गया।

रूस ने यमन में आतंकवादियों के विरुद्ध – जिन्होंने यमन के दक्षिण पूर्वी क्षेत्र पर क़ब्ज़ा कर रखा है – युद्ध करने पर ज़ोर दिया।

याद रहे कि यमन की जनता की कठिनाइयां और नरसंहार, 19 महीने पहले सऊदी अरब और उसके सहयोगी देशों की ओर से ज़मीन हवाई और समुद्री हमले के बाद शुरू हुआ था।

जबकि सऊदी के हमलों से हजारों यमेनियों की मौत दसियों घायल, और इस देश के आधारभूत ढांचे के विनाश पर संयुक्त राष्ट्र, अरब देश और तथाकथित मानवाधिकार संस्था चुप हैं।

 

Loading...