जाने माने परमाणु वैज्ञानिक मोहसेन फखरीजादेह की राजधानी तेहरान के बाहर उनकी ही कार में शुक्रवार को हत्या कर दिये जाने से ईरान बोखला उठा है। उसने इस वारदात के पीछे सीधे तौर पर इजरायल को जिम्मेदार ठहराते हुए परिणाम भुगतने की धमकी दी है।

राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को कहा कि “एक बार फिर, वैश्विक अहंकार के दुष्ट हाथ, व्यापार के रूप में सूदखोर ज़ायोनी शासन के साथ आ चुका है, जो इस देश के एक बेटे के खून से सना हुआ है।” उन्होने कहा, “शहीद [मोहसिन] फखरीज़ादेह की हत्या हमारे दुश्मनों की निराशा और उनकी नफरत की गहराई को दिखाती है … उनकी शहादत हमारी उपलब्धियों को धीमा नहीं करेगी।”

ईरान के धार्मिक और सैन्य शासकों ने शुक्रवार को परमाणु वैज्ञानिक फ़खरीज़ादेह की हत्या का बदला लेने की धमकी दी है। इस्लामिक गणतंत्र के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने फखरीजादेह की हत्या का बदला लेने का वादा किया और कहा कि उनका परमाणु कार्य जारी रहेगा।

वहीं ईरानी सेना के इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स के मेजर जनरल हुसैन सलामी ने कहा, परमाणु वैज्ञानिकों की हत्या करके हमें आधुनिक विज्ञान तक पहुँचने से रोकने की स्पष्ट कोशिश की जा रही है। 63 साल के फखरीज़ादे ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड के सदस्य थे और मिसाइल उत्पादन के विशेषज्ञ थे।

इससे पहले ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने शुक्रवार को कहा था कि वैज्ञानिक की हत्या में “इजरायली भूमिका के गंभीर संकेत” मिले हैं। जरीफ ने ट्विटर पर लिखा था, “आतंकवादियों ने आज एक प्रख्यात ईरानी वैज्ञानिक की हत्या कर दी।” “यह अपराधियों की कायरता और हताशा दर्शाती है- इसमें इजरायल की भूमिका के गंभीर संकेत मिलते हैं।”

इसी बीच संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने इस मामले में संयम बरतने की अपील की है। गुटेरेश के प्रवक्ता फरहान हक ने शुक्रवार को कहा, “हमने आज तेहरान के पास हुई एक ईरानी परमाणु वैज्ञानिक की हत्या की ख़बरों को नोट किया है। हम संयम बरतने और ऐसी किसी भी कार्रवाई से बचने का आग्रह करते हैं जिससे क्षेत्र में तनाव बढ़ सकता है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano