Sunday, June 26, 2022

बांग्लादेश से 9 लाख रोहिंग्या मुस्लिमों की सुरक्षित म्यांमार वापसी मुश्किल: UN

- Advertisement -

पिछले साल 25 अगस्त के बाद से ही बांग्लादेश के शरणार्थी शिविरों में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिमों की अपनी वतन वापसी को लेकर संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत क्रिस्टीनी श्रैनर बर्गनर का कहना है कि रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी में अभी समय लगेगा।

सोमवार को 15वें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि यह इतनी जल्दी ठीक नहीं हो सकता। उन्होंने बताया कि पद संभालने के बाद से म्यांमार में जटिल परिस्थितियों की एक समग्र तस्वीर का खाका खींचने के लिए कई लोगों से मुलाकात की है।

क्रिस्टीनी ने कहा कि म्यांमार के दो दौरों के दौरान उन्होंने रोहिंग्या शरणार्थी मुद्दे पर म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की के साथ शांति सम्मेलन में भाग लिया और विशेष रूप से दक्षिणी बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में शरणार्थी शिविर का दौरा किया था।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, म्यांमार में संयुक्त राष्ट्र की विशेष राजनयिक क्रिस्टीन स्क्रैनर बर्गनर ने गुरुवार देर शाम एक बयान में कहा कि जवाबदेही से रखाइन राज्य में वास्तविक तौर पर मेल-जोल हो सकेगा। रखाइन सदियों से रोहिंग्या का घर रहा है।

myanmar rohingya 7591

बर्गनर ने म्यांमार की नेता आंग सान सू की, सेना प्रमुख, मिन आंग हलिंग व दूसरे सरकारी प्रतिनिधियों से दौरे के दौरान मुलाकात की। यह दौरा मंगलवार को शुरू हुआ और गुरुवार को समाप्त हुआ।

बर्गनर ने म्यांमार से संकट की जांच के लिए एक विश्वसनीय जांच का आग्रह किया और स्थानीय अधिकारियों के साथ सहयोग के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यकर्ताओं के सहयोग की पेशकश की।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles