Thursday, December 9, 2021

म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों का सफाया किसी किताबी नरसंहार से कम नहीं

- Advertisement -

एक वरिष्ठ संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार अधिकारी ने सोमवार को कहा कि म्यांमार के रक्षा क्षेत्र राखीन राज्य में रोहिंग्या मुस्लिमों का नरसंहार “जातीय सफाई का एक पाठ्यपुस्तक उदाहरण है”

मानवाधिकार के उच्चायुक्त जैद रायद अल-हुसेन ने जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद को संबोधित करते हुए कहा कि म्यांमार को देश के मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों में “क्रूर सुरक्षा अभियान” समाप्त करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि पिछले महीने किए गए विद्रोही हमलों के लिए अभियान में प्रयुक्त बल “असमान” स्पष्ट रूप से है.

संयुक्त राष्ट्र के आधिकारी ने सरकार को “रोहिंग्या की आबादी के खिलाफ गंभीर और व्यापक भेदभाव के पैटर्न को खत्म” करने की भी मांग की.

उन्होंने बताया कि निर्दोष हत्याओं की खबरों के बीच अब तक 270,000 से ज्यादा लोग बांग्लादेश में सीमा पार चले गए हैं.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles