Monday, June 14, 2021

 

 

 

रोहिंग्याओं का बदला शुरू – 22 म्यांमार सैनिकों को उतारा मौत के घाट

- Advertisement -
- Advertisement -

म्यांमार स्थित रोहिंग्या मिलिटेंट ग्रुप ने मंगलवार को पश्चिमी राखीन राज्य में एक सेना की चौकी पर पूर्व-भयंकर हमले में म्यांमार के 22 सैनिकों को मारने का दावा किया।

समूह ने मंगलवार को एक बयान में कहा, “आज (मंगलवार]] रोहिंग्या सॉलिडेरिटी ऑर्गनाइजेशन (आरएसओ) ने सुबह 4.30 से 7.00 बजे के बीच 44-बीपी (बर्मी सैन्य शिविर) पर बर्मी सैनिकों पर हमला किया।

उन्होंने दावा किया कि “भारी मशीनगनों के साथ शिविरों के तीन तरफ से हमला किया गया।” शिविर में लगभग 100 सैनिक थे और उनके बीच दो घंटे की लड़ाई चली।

सेना द्वारा इस घटना के बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया। दरअसल, 1 फरवरी से देश भर में 500 से अधिक प्रदर्शनकारियों को मारने वाले सैन्य जंता के खिलाफ देश को भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

उग्रवादी समूह का दावा है कि राखीन राज्य में सैनिकों को मार डाला गया है।

समूह के बयान में कहा गया है, “आरएसओ चाहते हैं कि राखीन की आजादी हो, और वे अपनी मातृभूमि से निर्वासित सभी रोहिंग्या को वापस लेने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

समूह ने यह भी प्रतिज्ञा की “जब तक वे बर्मा की सेना पर हमला नहीं रोकेंगे, जब तक कि वे अराकान (राखीन) की स्वतंत्रता हासिल नहीं कर लेते और सभी रोहिंग्या शरणार्थी अपनी मातृभूमि पर लौट आते हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles