इराक की राजधानी बगदाद में एक बार फ‍िर अमेरिकी दूतावास को निशाना बनाते हुए कई रॉकेट हमले किए गए। हालांकि, अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं हो सकता है कि इसे हमले कितने लोग हताहत हुए हैं।

एएफपी के संवाददाताओं ने उच्च सुरक्षा वाले अमेरिकी दूतावास के ग्रीन जोन के समीप मंडरा रहे विमान से धमाकों की कई आवाज सुनी। यह हमला अमेरिकी दूतावास या इराक में स्थानीय बलों के साथ तैनात लगभग 5200 अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाकर किया गया अक्टूबर 2019 से अब तक का 19वां हमला है। इन हमलों की कभी किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली। लेकिन, अमेरिका ने ईरान समर्थित समूह हशद अल शाबी पर संदेह जताया है।

दरअसल, हशद अल शाबी के ईरान समर्थित गुट हरकत अल-नुजाबा ने शनिवार को कहा था कि अमेरिकी सैनिकों को अपने देश से बाहर करने के लिए उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। इसके कुछ घंटों के बाद ही अमेरिकी दूतावास पर हमला हुआ। बता दें कि ग्रीन जोन बगदाद का हाई सिक्योरिटी वाला इलाका है, जहां कई देशों के दूतावास स्थित हैं।

अमेरिका द्वारा हवाई हमले में ईरान की रिवॉल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (IRGC) के मुखिया जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की हत्या कर देने के बाद से इराक में अमेरिकी ठिकानों पर हमलों की बाढ़ सी आ गई है। अक्टूबर 2019 से अब तक का 19वां हमला है।

कासिम सुलामानी की हत्या के दो दिन बाद ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी ठिकानों पर दर्जनों रॉकेट से हमला किया था। ईरानी मीडिया ने दावा किया था कि इस हमले में US के 80 से ज्यादा सैनिक मारे गए, हालांकि अमेरिका ने इस बात का खंडन किया था।  ईरान ने कहा था कि उनका बदला पूरा हुआ और अब वह जंग नहीं चाहते। अगर जंग होती है तो वह अमेरिका को माकूल जवाब देंगे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन