अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को अमेरिका में मुस्लिमों के प्रवेश लगाने पर अपनों का ही समर्थन नहीं मिल रहा हैं. हाल ही में ट्रंप द्वारा अटॉर्नी जनरल पद के लिए नामित सीनेटर जेफ सेशंस ने अमेरिका में मुसलमानों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के का विरोध किया है. अब ट्रंप द्वारा विदेश मंत्री पद के लिए चुने गए रेक्स टिलरसन ने भी इसका विरोध किया हैं.

उन्होंने इस बारें में कहा कि ‘मेरे खयाल से महत्वपूर्ण बात यह है कि देश में आने वाले लोगों के बारे में हम फैसला ले सकते हैं. इसलिए मैं विशेष वर्ग या समूह के लोगों को पूर्ण रूप से अस्वीकार कर देने का समर्थन नहीं करता हूं.’ ये बात उन्होंने नामांकन की पुष्टि संबंधी सुनवाई के लिए सीनेट की विदेशी मामलों की समिति के समक्ष की हैं.

टिलरसन ने आगे कहा, ‘लेकिन यह साफ है कि हमारे समक्ष देश में आने वाले लोगों की अच्छी जांच परख की गंभीर चुनौती है खासकर ऐसे समय जब विश्व के कुछ हिस्सों में अस्थिरता बनी हुई है. यह एक बड़ी चुनौती है और मुझे नहीं लगता कि हम इसे नजरअंदाज कर सकते हैं. हमें इस खतरे को अच्छी तरह पहचानना होगा और इससे निबटने के लिए साधन विकसित करने होंगे.’

संभावित विदेशमंत्री ने कहा, ‘इस धर्म के प्रति के मेरे मन में सराहना का भाव है. मेरा मानना है कि हमें उन मुस्लिम आवाजों का समर्थन करना चाहिए जो उस कट्टरपंथी इस्लाम का विरोध करते हैं जिसका विरोध हम भी करते हैं.’

टिलरसन के मुताबिक यह युद्ध जीतने का हिस्सा है, वह युद्ध जो युद्ध क्षेत्र में नहीं लड़ा जाता. उन्होंने कहा, ‘हमें विचारों की लड़ाई लड़नी होगी. इस युद्ध हमारे सबसे बड़े सहयोगी होंगे नरमपंथी मुस्लिम’.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें