roh

बीते साल अगस्त में धार्मिक हिंसा और म्यांमार सेना के अभियान के चलते देश को छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी शिविरों में ठहरे रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थियों की मदद के लिए भारत ने पहल की है। भारत ने सोमवार को बांग्लादेश को 11 लाख लीटर से अधिक केरोसिन तेल और 20,000 स्टोर समेत राहत सामग्री दी।

बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त हर्षवर्द्धन श्रींगला ने बांग्लादेश के आपदा प्रबंधन एवं राहत मंत्री मोफाज्जेल हुसैन चौधरी को 11 लाख लीटर केरोसिन तेल और 20000 केरोसिन मल्टीविक स्टोव सौंपे। भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में कहा कि बांग्लादेश ने जो सहायता मांगी थी यह उसी के अनुसार है।

रखाइन प्रांत के विस्थापितों की जरूरतें पूरा करने के अपने प्रयासों के तहत बांग्लादेश को भारत द्वारा मानवीय सहायता का यह तीसरा चरण है।  पिछले साल सितंबर में भारत ने ‘ऑपरेशन इंसानियत’ के तहत बांग्लादेश को रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए पहले चरण की मानवीय मदद की। उस समय 981 मीट्रिक टन राहत सामग्री बांग्लादेश को भारत की ओर से मुहैया कराई गई थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

dar yasin rohingya refugees 5 990x556

राहत सामग्री में चावल, दाल, चीनी, नमक, केरोसिन तेल, चाय, नूडल्स, बिस्किट और मच्छरदानियां शामिल थीं। मई 2018 में 104 मीट्रिक टन मिल्क पाउडर, 102 मीट्रिक टन सूखी मछली, 61 मीट्रिक टन बेबी फूड, 50,000 रेनकोट्स और 50,000 गम बूट्स चाटोग्राम शिविर में बसे रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए मुहैया कराया गया।

बता दें कि करीब 700,000 रोहिंग्या मुसलमानों ने सीमा पार कर पड़ोसी देश में शरण ली हुई। इस मामले में बांग्लादेश ने भारत सहित अंतराष्ट्रीय समुदाय से म्यांमार पर दबाव डालने की मांग की है।

Loading...