इराकी संसद के अध्यक्ष ओसामा अलनजीफी, ने खाड़ी संकट में कतर का बचाव किया और प्रतिबंधों को हटाने की मांग की।

अनमाजोल तुर्की के रिपोर्टर, अहमद अल-मिसरी ने एक सोशल मीडिया साइट मीडियम पर इराकी संसद के प्रमुख से एक टेलीफोन कॉल का उल्लेख किया है।

नजीफी ने इस कॉल में कहा है कि सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र, कतर के भाई है और यह सही नहीं है कि भाई, भाई के विरुद्ध मुस्लिम ब्रदरहुड के समर्थन का बहाना बनाकर प्रतिबंध लगा दे।

इराकी पार्लिमेंट अध्यक्ष ने कहा कि मुस्लिम ब्रदरहुड की विचारधारा जायोनियों के विरुद्ध मुसलमानों की सुरक्षा करती है और यह जिहाद और इस्लाम की सुरक्षा का कुटुंब है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा: ब्रदरहुड एक उदारवादी गुट है जिसकी मुसलमान देशों को आवश्यकता है क्योंकि वह अरब जनता के बीच मतभेद को दूर करते हैं और जो इस विचारधारा का दुश्मन होगा वह चाहते य न चाहते मुस्लिम एकता का दुश्मन होगा।

उन्होंने कहा: कुछ खाड़ी देशों की राजनीति अमेरिकी नीतियों के अनुसार होती है। उन्होंने कहाः आतंकवाद इस्लाम के लिए जहर है, और तथ्य यह है कि कतर की नाकेबंदी करने वाले कुछ देश खुद आतंकवाद का समर्थन करते है।