Friday, July 23, 2021

 

 

 

51 दिन बाद दोबारा श्रीलंका के प्रधानमंत्री बने रानिल विक्रमसिंघे

- Advertisement -
- Advertisement -

श्रीलंका में प्रधानमंत्री पद से बर्खास्त किए गए रानिल विक्रमसिंघे को फिर से बहाल कर दिया है। राजनीतिक उठापटक के बीच शनिवार को महिंदा राजपक्षे ने प्रधानमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था। राजधानी कोलंबो में राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने विक्रमसिंघे को शपथ दिलाई।

बता दें कि रानिल विक्रमसिंघे के संसद में बहुमत साबित कर देने के बाद राजपक्षे का पद छोड़ना लगभग तय हो गया था। महिंदा राजपक्षे को राष्‍ट्रपति सिरिसेने ने नियुक्‍त किया था। सिरिसेन ने 26 अक्टूबर को विक्रमसिंघे को बर्खास्त करके पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री नियुक्त किया था, लेकिन संसद ने उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित कर दिया।

विक्रमसिंघे के दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद इस द्वीपीय देश में जारी राजनीतिक संकट के भी समाप्त होने के संकेत मिले हैं। रविवार को हुए शपथ समारोह में मीडिया को नहीं बुलाया गया था और इसमें विक्रमसिंघे के गठबंधन के कुछ ही नेता शामिल थे।

रानिल विक्रमसिंघे की यूनाइटेड नेशनल पार्टी (यूनएपी) ने कहा कि वो राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के साथ काम करने के लिए तैयार है जिन्हें उनकी सरकार के खिलाफ ‘कुछ समूहों ने गुमराह’ किया था। वहीं यूएनपी के महासचिव सांसद अकिला विराज करियावासम ने कहा कि नए मंत्रिमंडल का गठन 2 दिन के भीतर किया जाएगा।

नए मंत्रिमंडल को सोमवार को शपथ दिलाई जाएगी। इसमें श्रीलंका फ्रीडम पार्टी के 6 सांसदों सहित कुल 30 सदस्य होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles